राजनीति

ये उन के लिए जो मॊदी जी से सवाल पूछते हैं कि ” मेरे टेक्स के पैसे कहां गये?”

2014 से पहले हम कभी नहीं पूछते थे कि देश में इतने घॊटाले हुए, वो कैसे हुए? उन घॊटालों का पैसा गया कहां? हमारे टेक्स का पैसा कहां गया? देश में इतनी बेरॊज़गारी और भुकमरी क्यों है? देश में अनक्षरता क्यों हैं? क्यों साठ-सत्तर साल बाद भी देश में शौचालय नहीं बनवाया? रक्षा सौदों में किसने कितना खाया? तब हम अपने मुहुं में दही जबाए बैठे थे। लेकिन 2014 बाद तो हमारी ज़ुबान कैंची की तरह चलने लगी। अब हम पाई-पाई का हिसाब मांगते हैं। अच्छी बात है, मांगना भी चाहिए। और इस बार तो सरकार एक ईमान्दार व्यक्ती चला रहा है, इसलिए आपके हर सवाल का जवाब आपको मिलेगा।

आप जानना चाहते हैं ने कि आपका टेक्स का पैसा कहां जाता है तो पढ़िये:

1 बुनियादी ढांचे का विकास: यूपीए कुशासन के दौरान सड़क के हालात कैसे थे इससे आप भलि भांती परिचित हैं। यूपीए के कार्यकाल में राज मार्गों का काम प्रतिदिन 11 कि.मी था लेकिन मॊदी सरकार प्रतिदिन 22 कि.मी सड़क बना रही है। यानी दुगनी तेज़ी से राजमार्गों का निर्माण का काम चल रहा है। अब तक मोदी सरकार ने कुल 1,20,000 किलोमीटर सड़क का निर्माण है।

  • 2011-14 के बीच, ऑप्टिकल फाइबर केवल 59 पंचायतों को प्रदान किए गए थे, लेकिन जब से नरेंद्र मोदी ने पदभार ग्रहण किया, ऑप्टिकल फाइबर 1 लाख से अधिक पंचायतों तक पहुंच गए हैं।
  • पिछली सरकार के पिछले 3 वर्ष के कार्यकाल में केवल 12000 मेगावाट अक्षय ऊर्जा का उत्पादन किया गया था, मॊदी सरकार ने 22000 मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन किया है।
  • मॊदी सरकार ने शिपिंग इंडस्ट्री में कई तरह के निवेश और नए बंदरगाहों का निर्माण कर जलयान में नया क्रांती ला दिया है।

2 बीदर-कलबुर्गी रेल्वे मार्ग: अटल जी द्वारा प्रस्ताव दी गयी इस रेल्वे मार्ग को यूपिए ने दस साल तक लटकाए रखा था। यूपीए सरकार के दौरान, 110 में से केवल 37 किलोमीटर का काम हि पूरा हुआ था लेकिन नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद शेष 73 किमी का काम पूर्ण होकर रेल्वे लाईन का उद्घाटन भी हुआ है। तेजस, उदय, गतिमान एक्सप्रेस का उन्नयन और देश में नये मेट्रॊ रेल्व का निर्माण किया गया है।

3 बाड़मेर रिफैनरी: बाड़मेर भारत की पहली ग्रीनफील्ड भारत स्टेज VI रिफ़ाइनरी पेट्रोकेमिकल परियोजन है जिसने मॊदी जी ने पुनरुज्जीवित किया है। इस यॊजना से राजस्थान सरकार को 40000 करोड़ रूपये कि बचत हॊ जायेगी। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में नयी क्रांती लाई गयी है।

4 धॊला-सादिया पुल: अटल सरकार द्वारा प्रास्तावित इस पुल का निर्माण कार्य पिछले दस साल से लटका हुआ था। भुपेन हज़ारिका जी के नाम समर्पित इस पुल के निर्माण कार्य को तेज़ी देकर पुल का निर्माण पूर्ण करवाया है मोदी सरकार ने।

5 देश के एविएशन पॉलिसी में बदलाव: मॊदी सरकार ने देश के एविएशन नीती में बडा बदलाव किया है। देश में नये हवाई अड्डॊं के निर्माण सहित पुराने अड्डॊं का पुनर निर्माण कर देश के हर नागरिक के हवाई जहाज़ में जाने के सपने को साकार बनाने की काम में मोदी जी लगे हुए हैं। देश में अब तक 450 उड़ानें चल रही हैं लेकिन साल के अंत तक ये आंकड़ा 900 तक पहुंचने की संभावना है।

6 गरीबों के लिए यॊजनाएं: उज्वला, मुद्रा यॊजना, जन धन यॊजना, फसल बीमा योजना, अटल पेनशन यॊजना, आयुश्मान भारत यॊजना, जन औशधी यॊजना, अंत्यॊदय यॊजना, स्वच्छ भारत अभियान, प्रधान मंत्री आवास यॊजना, छात्रॊं के लिए छात्रवृत्ती जैसे अनेक यॊजानाओं के कारण आज गरीब, किसान , मजदूर और महिलाएं सहित छात्रों के जीवन में खुशहाली आई है।

7 भारतीय सेना के लिए अत्याधुनिक हथियार: मॊदी सरकार के आने के बाद भारतीय सेना में जवानों की अच्छे दिनों की शुरुवात हुई है। जवानों को देश रक्षा के लिए नये और आधुनिक हथियार के साथ साथ जवानों के रक्षा के लिए बुलेट प्रूफ़ जैकेट, हेलमेट और नये जूते भी दिलावये गये हैं। सेना के निव्रुत्त जवानों के लिए वन रैंक वन पेंशन यॊजना, अरियर्स में दस प्रतिशत की बढ़ॊत्तरी, जवानों को अपने परिवार से बात चीत के लिए DSPT के कॉल के दरॊं में कमी आदी की गयी है।

आप खुद जानते हैं कि पिछले चार सालों में देश में जो विकास हुआ है वो अब तक के किसी भी सरकार के दौरान की गयी विकास से अधिक तेज़ है। आपके टेक्स का पैसा विदेशी बैंको में जमा नहीं हॊ रहा है बल्की देश की विकास के कामों में उपयॊग हो रहा है। और अगर आपका आरॊप उन पंद्रह लाख रुपयों की है जिसका इंतज़ार आप कर रहें हैं, तो धीरज रखिए वो पैसा भी आज नहीं तो कल आ ही जायेगा। मॊदी जी जो कहते हैं वो कर के दिखाते, विश्वास रखिए।

Tags

Related Articles