अभिमतराजनीति

मोदी जी ने किया मणि शंकर अय्यर की नीच हरकतों का खुलासा,कांग्रेस को लगा करारा झटका

अफ़सोस कोंग्रेस कभी भी अपने मंसूबों में कामयाब नही हो पाएगी

प्रधान मंत्री मोदी जी ने आज कांग्रेस को झटका देते हुए उनकी नीच हरकतों का खुलासा करते हुए बताया की जब मणि शंकर अय्यर 2015 में पाकिस्तान गये थे तो वहाँ के एक न्यूज़ चैनल “दुनिया टीवी” के पैनल डिस्कशन में उन्होंने कहा था की मोदीजी को रास्ते से हटा दिया जाए फिर देखिये क्या होता है? कैसे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में मधुरता आती है और दोनों देशों में शान्ति बनी रहती है ?

मणि शंकर अय्यर ने ऐसा क्यूँ कहा?उनका इस बात से क्या मतलब था की प्रधानमंत्री मोदी जी को रास्ते से हटा दिया जाए

ये व्यक्तव्य उस वक़्त का है जब  2015 में मणि शंकर अय्यर पाकिस्तान गये तो वहाँ के एक चैनल में पैनल डिस्कशन के वक़्त उनसे जब चैनल के एंकर ने ये सवाल किया की दोनों देशों के बीच उभरी इस गतिरोध की स्तिथि जहाँ दोनों देशों के रिश्ते इस तरह से उलझ चुके है की कोई एक कदम भी आगे नही बड़ा पा रहा है तो ऐसे में इस स्तिथि का अंत करने के लिए क्या किया जा सकता है,कैसे कोई रास्ता निकाला जा सकता है तो मणि शंकर अय्यर ने कहा की इस मामले में सबसे पहले और सबसे महत्तवपूर्ण लेने वाला कदम ये है की मोदी जी को हटा दिया जाए तभी कुछ हो सकता है,तभी दोनों देशों में बातों का सिलसिला आगे बड़ सकता है|

इसलिए हमे तक़रीबन 4 साल और इस बात के लिए इंतज़ार करना होगा तभी कुछ होने की उम्मीद है|अच्छा है इन देश के आंतकवादियों को इस बात का अच्छे से ज्ञात है की मोदी जी के रहते ये देश और देशवासियों का बाल भी बांका नही कर सकते पर जो ये लोग उम्मीद लगाए बैठे हैं की मोदी जी 2019 में सत्ता में नही आएंगे ये इनकी सबसे बड़ी गलत फ़हमी है|

मणि शंकर अय्यर ने ये भी कहा है की हमें यहाँ ऐसे वजीर-ए-आज़म की जरूरत नही जो शर्तें रखें,हमें ऐसे की जरूरत है जो आपस में बातचीत करके कोई रास्ता निकाले|उन्होंने कहा की जब परवेज़ मुशरफ और मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे तब ऐसा बिलकुल नही था और अब सिर्फ एक ही रास्ता  बचा है इस स्तिथि से बहार निकलने का की  “हमे ले आईए और इनको हटाइए” तो एंकर ने कहा की ऐसा तो केवल आप ही कर सकते है तो मणि शंकर अय्यर ने कहा, “हाँ ऐसा हम ही कर सकते है और करेंगे भी“| लगता है न तो उस एंकर को और न ही मणि शंकर अय्यर को इस बात का ज्ञात है की मोदी जी को हटाने की शक्ति इस दौग्लेबाज़ कांग्रेस के पास है ही नही और न ही देश की जनता इन गद्दारों को मोदी जी को हटाने देगी| “ये केवल दिन में तारे ही गिन सकते है और गिनते रहे

मोदी जी ने इस बात पर कहा की मणि शंकर अय्यर ने ऐसा क्यूँ कहा ? उनका मेरे को रास्ते से हटाने का क्या मतलब है ? क्या मैंने कोई गुनाह किया है? क्या मेरा दोष ये है की मेरे लोगों की दुआएं मेरे साथ है?

मोदी जी से हम केवल इतना ही कहना चाहेंगे की आप इन दौग्लेबाज़ लोगों की बातों पर ध्यान न दे| देश आपके साथ है आप देश की और देखिये और इन असुरों को इनकी सही जगह पहुँचाने का काम जनता खुद-ब-खुद करदेगी|

इनकी जितनी बातें खंगाली जाएँ सब एक से बड़कर एक इनके बुरे आचरण की और ही इशारा करती है| हाल ही में मणि शंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री जी को “नीच किसम का इंसान” कहा|ऐसा कह कर मणि शंकर अय्यर ने अपनी नीच सोच का प्रदर्शन देश के आगे किया है की कांग्रेस और उनकी पार्टी की सोच कितनी गिरी हुई है जो देश के वजीर-ए -आज़म के लिए ऐसे तुच्छ शब्दों का प्रयोग करते है|अय्यर ने कहा की उनका नीच कहने से  तात्पर्य है “Low Level” और वै अंग्रेजी में सोचते है उस शब्द के बारे में जब वे हिंदी में कुछ भी बोलते है क्यूंकि उनकी मात्रभाषा हिंदी नही है| इन अंग्रेजों की औलाद को वाक्य ही हिंदी मात्र भाषा का कोई ज्ञान नही है|अगर होता तो ये हिंदी भाषा की गरिमा को समझते की हमारी मात्र भाषा कितनी मधुर और सांस्कृतिक है|

हालांकि बाद में मणि शंकर अय्यर ने कांग्रेस के कहने पर इस बात पे माफ़ी माँग ली थी तांकि उनकी वजह से आने वाले गुजरात चुनावों में उनकी पार्टी को कोई दिक्कत न हो, न की इसलिए की उन्होंने देश की ऊँची शख्शियत को बेईज्ज़त किया|वैसे तो कांग्रेस ड्रामों में माहिर है और ये भी कांग्रेस के उन्ही ड्रामों में से एक है|

 

 

मणि शंकर अय्यर की ये सोच कांग्रेस और उसके मंसूबों  को बिलकुल साफ़ करती है की ये लोग देश को किस तरह बर्बाद करना चाहते है| किस तरह ये उस आंतकवादी देश के साथ मिल कर देश को नुक्सान पहुंचाना चाहते है| पर अफ़सोस मोदी जी और देश की जनता  के रहते हुए अब ये कभी भी अपने इन बुरे मंसूबों में सफल नही हो पायेंगे और देश की जनता इनको पटककर बुरी तरह से फैंक देगी|


निहारिका

Tags

Related Articles