राजनीति

जितने मारे हो उसकी संख्या मत बताओ जितने बचे है उसकी बताओ:योगी आदित्यनाथ

 

योगी आदित्यनाथ  का काम करने का तरीका बेहदअलग है|योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली भाजपा सरकार ने प्रदेश में आते ही इस बात का सबूत सामने रख दिया था| आते ही उन्होंने सारे कानून सख्त करदिये थे|जहां अखिलेश सरकार के अंतर्गत  पहले पुलिस अधिकारी आराम फरमाते थे|वहीं मुख्यमंत्री योगी के आते ही इन पुलिस वालों को समझ आगया की अब काम चोरी नही चलेगी क्यूंकि योगी जी ने आते ही कहदिया था” जाग जाओ या भाग जाओ”, जो 18-20 घंटे काम कर सकते है वो ही यहाँ रहे नही तो अपना रास्ता नाप्ले| एक महीने के अन्दर ही योगी सरकार ने 626  पुलिस अफसरों और 41 आइएएस अधिकारीयों का तबादला करदिया था|

योगी सरकार ने मंत्रियों और अधिकारीयों को अनुशाषित करने के लिए नई आचार सहिता तयार करदी थी जिसके अनुसार अफसरों को कैम्प कार्यालय में बैठना बंद करके सुबह 9 बजे से 11 बजे दफ्तर में बैठकर लोगों की समस्या सुनना होगा| शिकायतों के हिसाब से अफसरों का रिकॉर्ड बनाया जायेगा और अगर ज्यादा शिकायतें सीएम दफ्तर पहुंची तो जिले के अफसर बख्शे नही जायेंगे|बड़ी घटना पर आला अफसरों को मौके पर जाना होगा और भी ऐसे बहुत से कदम योगी जी द्वारा उठाये गये|

योगी जी ने आते ही सत्ता के संगाथान में पल रहे गुंडे,माफिया,अपराधी,लुटेरे को सचेत करदिया था या तो प्रदेश छोड़ के भाग जाओ और अगर उत्तर प्रदेश में रहोगे तो उनके लिए केवल 2 जगह होंगी जहां कोई भी नही जाना चाहेगा| कानून के भय को स्थापित किया और अपराध को सरंक्षित करने वालों तत्वों को समझा दिया की अब किसी को बख्शा नही जाएगा|पुलिस अब डिफेंसिव नही ओफ्फेंसिव हो चुकी है और अपने प्रोएक्टिव रोल में है|

योगी सरकार के आने के बाद प्रदेश में एक भी दंगा नही हुआ है|पहले जो अपराधियों को राजनीतिक साथ मिलता था उसका खात्मा होगया| 7 महीने में ही 800 से ज्यादा एनकाउंटर हुए है और 1100 से ज्यादा अपराधी जेल भेजे गये और आज भी योगी सरकार के  एनकाउंटर जारी है|योगी जी का कहना है की ये मत गिनाओ कितने अपराधी मर चुके है|ये बताओ कितने बाकी है तांकि उनको  भी खत्म किया जा सके|

महिला सुरक्षा , कानून व्यवस्था, गौ-तस्करी पर पूर्ण प्रतिबंध,अवैध बूचडख़ानों को तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश, राजनेताओं को दी गई सुरक्षा की समीक्षा, अधिकारी-मंत्री अपनी संपत्ति और खातों की जानकारी 15 दिन में दें, कर्मचारी- अधिकारी और मंत्री समय से अपने विभाग में पहुंचे, नवरात्रि और राम नवमी के उपलक्ष्य में 24 घंटे बिजली, अयोध्या में राम नवमी के मौके पर आधारभूत सुविधाओं को मुहैया कराया जाना, सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों का सही समय पर अस्पताल पहुंचना, आगरा- इलाहाबाद-मेरठ-गोरखपुर- झांसी में मेट्रो बनाना, सरकार द्वारा किसानों का शत-प्रतिशत अनाज खरीदना  जैसे काफी साहसी कदम मुख्यमंत्री द्वारा उठाए गए हैं|

हाल ही में योगी सरकार ने प्रदेश में गुंडा माफिया, अशांति फैलाने वालों, अवैध खनन करने वालों तथा अवैध रूप से वनों की कटाई करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और संगठित अपराधियों की गतिविधियों पर नियंत्रण हेतु ‘उ0प्र0 संगठित अपराध नियंत्रण विधेयक-2017’ (UPCOCA) को मंजूरी दे दी है।

 

अपराधियों को अलटिमेटम भी दिया है की या तो वे अपराध करना छोड़ दे या फिर जेल जाने को तय्यार हो जाए। यॊगी जी ने अपने कड़े निर्णयों से जनता को बताया है की देश की सुरक्षा के साथ असावधानी नहीं बरती जाएगी|

योगी सरकार के अच्छे निर्णय केवल यहीं नही थमते, युपी में अवैध रूप से बसे हुए रोहिंग्या मुस्लमानों को दो महीनों के अंदर ही देश से बाहर निकालने का आदेश जारी करदिया गया, नई टूरिस्ट डेस्टिनेशन लिस्ट में  टूरिस्टों के लिस्ट में ताजमहल का नाम हटाकर गोरखधाम मंदिर को जगह दे दीगयी | खपुर के देवी पटन शक्ति पीठ को भी स्थान दिया गया है। योगी सरकार द्वारा इसी दिशा में बड़ते हुए वृंदावन एवं नगर पंचायत बरसाना के अधिसूचित क्षेत्र को ‘पवित्र’ तीर्थस्थल घोषित किया गया है।

योगी आदित्यनाथ जी ने पुरे उत्तर प्रदेश को भगवा रंग से रंग दिया है और धार्मिक स्थानों से लाउडस्पीकर हटवाने की भी मंजूरी न्यालय द्वारा दे दी गयी है योगी सरकार द्वारा उठाये जा रहे क़दमों की ये तो शुरुआत है,इसका अंत तो है ही नही|योगी जी की अगुवाई में उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की राह पे है|

 

जो जिस भाषा में समझेगा उसी में समझायेंगे

हम योगी है

एक हाथ में माला

तो दूसरी में भाला रखते है |

Tags

Related Articles