राजनीति

इटली से उजागर हुई पोंजी स्कीम भारत में किस तरह अपनी जड़े मजबूत कर रही है ? क्या सम्बन्ध है कांग्रेस की मैडम जी और इस स्कीम में

पोंजी स्कीम या धोखाधड़ी का सिलसिला कोई अब से नही बल्कि सालो से चलता आ रहा है। पोंजी स्कीम का जन्म इटली में जन्मे चाल्स पौंजी नामक शख्स से हुआ है। जिसने पहले इटली,कनाडा व अमेरिका से अपने धोखेबाजी के धंधे की नींव रखी,जिसने लोगो को अपने झांसे मे लेते हुए भोले भाले लोगो को कम समय से अधिक धन कमाने का लालच देकर अपने चुंगल मे फंसा लिया व पैसा लेकर फरार हो गया। इसके साथ साथ एक जगह से ठगी करने के बाद समय समय पर शहर बदलकर व अन्य लोगो को चुना लगाने के लिए चुनने लगा और यही लक्षण लेकर इटली से भारत इम्पोर्ट हुई मैडम जी(सोनिया गाँधी) में है| मैडम जी ने भारत में आते ही इस तरह की कई पोंज़ी स्कीमें चलाना शुरू करदिया| पहले तो भारत की भोली भाली जनता को झूठे झूठे वादे किये और उन्हें सपने दिखाकर अपने चुंगल में फसा लिया और फिर देश की जनता के लिए किया कुछ नही किया अगर कुछ किया तो बस एक ही काम देश की जनता का पैसा खाकर खुद की तिजोरियां भरने का |

वैसे तो कांग्रेस ने बहुत सारी पोंज़ी स्कीम देश में चलाई है पर इस वक़्त कांग्रेस द्वारा चलाई जारी रिलीजियस पोंज़ी स्कीम बेहद चर्चा में है| वै अपने फायदे और समय के अनुसार किसी भी धर्म को अपना लेते है और देश की जनता को ठगने का काम शुरू कर देते है जैसे की आज कल इस खानदान के युवराज राहुल गाँधी गुजरात चुनाव को जीतने के लिए मंदिर मंदिर चक्कर लगा रहे है और अपने आप को जनेऊ धारी हिन्दू प्रस्तुत कर रहे है जब की वास्तव में इंदिरा से लेकर आज तक कोई भी गांधी हिंदू नहीं है।

Image result for rahul gandhi hindu

अपने आप को जनेऊ धारी हिन्दू कहने वाले इस इंसान को हिन्दुओं के संस्कार और उनकी परंपरा के बारे में रत्ती भर का ज्ञान नही है| कैसे मंदिर में प्रवेश करते है,कैसे पूजा स्थल पे बैठते है,कैसे बड़ो का आदर सम्मान करते है,कैसे उनसे आशीर्वाद लेते है कुछ भी नही और कांग्रेस के लोग इनको पंडित की उपादी से संबोधित कर रहे है जिसके ये बिलकुल लायक नही है| जिस तरह की बेवकूफियां राहुल करते हैं उनके लिए तो उन्हें पीदी नाम ही शोभा देता है|

Related image

अगर कांग्रेस आज के वक़्त में भी ऐसा सोचती है की ये नेहरू और इंदिरा का जमाना चल रहा है और लोगों को आसानी से मुर्ख बनाया जा सकता है  तो ये कांग्रेस की बहुत बड़ी भूल है| उस वक़्त की बात और थी तब जनता इतनी जागरूक नही थी पर आज के लोग कांग्रेस के दौगुले चेहरे को अच्छी तरह से पहचान चुके है और कांग्रेस के जाल में बिलकुल भी फसने वाले नही है बल्कि उसे उसकी असली जगह दिखा रहे है|

इस पोंज़ी स्कीम का सबसे घिनोना चेहरा तो तब सामने आया जब उच्च न्यालय में राम मंदिर के लिए सुनवाई होनी थी|कांग्रेस के वकील कपिल सिब्बल ने सुनवाई को 2019  के चुनावों तक आगे बड़ाने के लिए कहा। कांग्रेस ने कहा था की कपिल सिब्बल सुन्नी वक्फ़ बोर्ड के और से लड़ रहे है और कांग्रेस का उनसे कुछ लेना देना नही है|अगर ये वाकई ही सच है तो क्या सुन्नि वक्फ़ बोर्ड 2019 में चुनाव में हिस्सा लेने वाला है जो उसे आज सुनवाई से  दिक्कत  हो रही है |

ये कतई नही है असल में इसके पीछे अगर किसी का हाथ है तो वै है पोंज़ी मास्टर मैडम जी का और उनकी पार्टी का|क्यूंकि इस बात से जिसको फर्क पड़ने वाला है वो ये लोग है|हिन्दुओं को चाहिए की वो ऐसे घटिया सोच वाले लोगों को सत्ता में कभी न आने दे | मनीषंकर अय्यर ने ठीक ही कहा था कि मुगल वंश में कोई भी चुनाव नहीं हुआ था| राहुल बिलकुल उस औरंगजेब की तरह है जो हिन्दुओं से नफरत करते है उनका व्यवहार तुघ्लक जैसा है  जो अपने भ्रष्ट, अनैतिक, धार्मिक-पोन्ज़ी पार्टी में बहादुर शाह को खत्म करनेवाले है|

जब कांग्रेस को कोई आसार नज़र नही आता,सब कुछ विफल हो जाता है, तो ये धार्मिक पोन्ज़ी योजना पर वापस आ जाते है। गुजरात के चुनाव में हार इन हिंदुओं के शत्रुओं और पोंज़ी चलाने वालों के लिए एक करारा तमाचा होगा जो इन्हें इनकी असली औकाद दिखादेगा और ये अच्छे से समझादेगा की धर्म के नाम पर अपने धंदे चलाने वालों की यही दशा होता है|

Tags

Related Articles